तीस हजारी  में तांडव, पुलिस फायरिंग के बाद वकीलों ने गाड़ियों में लगाई आग

Clash between police and lawers

नई दिल्ली पुलिसकर्मियों और न्यायकर्मियों में यूं तो आपसी समझदारी की बात ही सामने आती है, लेकिन कई बार स्थिति बिलकुल उलट होती है। दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट परिसर में शनिवार दोपहर में वकीलों और पुलिस के बीच मामूली कहासुनी और विवाद के दौरान जबरदस्त झड़प हो गई। वकीलों से झड़प के दौरान पुलिसिया फायरिंग की भी सूचना आ रही है। फायरिंग से गुस्साए वकीलों द्वारा, कुछ गाड़ियों में आग भी लगा दी गई है। पार्किंग को लेकर शुरू हुआ विवाद देखते ही देखते इतना बढ़ गया कि दोनों पक्ष एक दूसरे पर टूट पड़े। आक्रोशित वकीलों ने पुलिस के एक वाहन समेत कुछ गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। वकीलों ने घटना का विडियो बना रहे या तस्वीर ले रहे लोगों के मोबाइल फोन तोड़ दिए और उनसे मारपीट की गई। कुछ पत्रकारों की भी पिटाई किए जाने की खबर है।

इसी बीच बवाल को बढ़ता देखकर उत्तरी जिले के कई थानों से पुलिस बलों को मौके पर पहुंचने के लिए कहा गया है। इस बीच बिगड़ते हालात के मद्देनजर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने मोर्चा संभाल लिया है। फायरिंग में जिस शख्स गोली लगी है उस वकील का नाम विजय वर्मा बताया जा रहा है। उसे तत्काल नजदीक के सेंट स्टीफेंस अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज किया जा रहा है।

Read Also :  कनाडा में सिख वोटरों की ताकत का नतीजा, जगमीत सिंह बनेेंगे किंगमेकर

वकीलों का कहना है कि दिल्ली पुलिस ने एक वकील को रोका और कहा कि लॉकअप के सामने गाड़ी क्यों लगाई। इसके बाद वकील को पीटा गया। जब बवाल हुआ तो गोली मार दी। एक राउंड गोली चलाई है। वकील अस्पताल में भर्ती है। वहीं, दिल्ली पुलिस का कहना है कि फायरिंग जैसी कोई घटना नही हुई है। पुलिस की गाड़ी जरूर जलाई गई है बवाल किस बात पर हुआ उसकी जांच की जा रही है। मिली जानकारी के मुताबिक, लॉक अप के बाहर तीसरी बटालियन की पुलिस और वकीलों के बीच झगड़ा हुआ है। तीसरी बटालियन कैदियों को कोर्ट लाने और ले जाने का काम करती है। यह भी सूचना मिली है कि पार्किंग की लेकर झगड़ा हुआ। विवाद इतना बढ़ा कि पीसीआर वैन में भी आग लगा दी गई है।

Read Also :  अब यूनिफार्म सिविल कोड के लिए मोदी सरकार ने कसी कमर, राजनाथ ने दिए संकेत

मिली जानकारी के मुताबिक, फायरिंग और अपने साथी विजय शर्मा को गोली लगने के बाद गुस्साए वकीलों ने हंगामा शुरू कर दिया है। बताया जा रहा है कि उन्होंने कई गाड़ियों में आग लगाने के साथ ही पुलिस के कुछ अफसरों की भी पिटाई की है। स्थिति यह बन गई कि तीस हजारी कोर्ट परिसर में जो भी पुलिस वाला दिखा उसे दौड़ा-दौड़ाकर वकीलों ने जमकर पीटा। एसएचओ से हाथापाई हुई है। वकीलों की दहशत के चलते पुलिस वाले भाग खड़े हुए। खबर आ रही है कि हिंसक रुख अख्तियार कर चुके वकीलों ने न्यूज़ चैनलों के कुछ कैमरे भी तोड़ दिए हैं।  वहीं, कुछ मीडिया कर्मियों के मोबाइल फोन भी छीनकर तोड़ दिए गए हैं।