मोदी सरकार की गाईडलाइन, हर कर्मचारी करे आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल

भारत सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के लिए आरोग्य सेतु ऐप्प को अनिवार्य कर दिया है. देश में इससे कोरोना मरीजों के नियंत्रण करने में सुविधा होती है. देश में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है. इस बीच केंद्र सरकार आरोग्य सेतु ऐप को मोबाइल में डाउनलोड करने के लिए भी लोगों को प्रोत्साहित कर रही है. इस बीच निजी और सरकारी क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए आरोग्य सेतु ऐप को अनिवार्य कर दिया गया है.

कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में अहम फैसला लेते हुए केंद्र सरकार ने प्राइवेट और सरकारी क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए आरोग्य सेतु ऐप को अनिवार्य कर दिया है. इन क्षेत्रों में काम करने वाले कर्मचारियों को अपने मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना होगा.

Read Also :  छात्रों के विरोध के आगे झुकी सरकार, वापस हुआ JNU में फीस बढ़ाने का फैसला

सरकार की ओर से कहा गया है कि सरकारी और निजी क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप हो, इसकी जिम्मेदारी उस संस्थान के प्रमुख की होगी. सरकार ने कहा है कि संस्थान के प्रमुख की ये जिम्मेदारी है कि वहां काम कर रहे 100 फीसदी कर्मचारियों के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड हो.

आरोग्य सेतु ऐप हिंदी और अंग्रेजी सहित 11 भाषाओं में उपलब्ध है. इसमें अपने आसपास के 10 किलोमीटर तक के एरिया की जानकारी ले सकते हैं. इसको डाउनलोड करने के बाद मोबाइल नंबर से इसमें रजिस्टर करना होगा है. इस ऐप के जरिए हम यह जान सकते हैं कि हमारे आसपास कौन और कितने लोग कोरोना संक्रमित हैं.

Read Also :  370 के बाद नागरिकता संशोधन बिल पर तकरार, शीतकालीन सत्र में लाएगी सरकार

आरोग्य सेतु ऐप में अगर ग्रीन जोन दिखाता है तो इसका मतलब है कि आप सुरक्षित जगह पर हैं. वहीं अगर ऑरेंज जोन दिखाता है तो इसका मतलब है कि आपके आसपास कोई न कोई कोरोना संक्रमित शख्स है.