बौद्धनगरी धर्मशाला में उद्योगपतियों का जमावड़ा, ग्लोबल इन्वेस्टर मीट की शुरुआत करेंगे पीएम मोदी

Himachal Global Investor Meet CM of Himachal and PM modi

 

Dharmshala : हिमाचल की हसीन वादियों में स्थित धर्मशाला यूं तो अपने बौद्ध मठों और धर्मावलंबियों की धार्मिक क्रियाओं के लिए जाना जाता है पर पिछले कुछ दिनों से यहां देश विदेश के नामी गिरामी उद्योगपतियों का जमावड़ा हुआ है।  वजह है हिमाचल को औद्योगिक रुप से नई उंचाइयों पर पहुंचाने की राज्य सरकार की इच्छा शक्ति, ताकि हिमाचल के लोगों को हिमाचल में ही रोजगार दिया जा सके । इसी के मद्देनजर  धर्मशाला में आज से दो दिवसीय राइजिंग हिमाचल ग्लोबल इन्वेस्टर मीट की शुरुआत होगी। ग्लोबल इन्वेस्टर मीट का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। पीएम का लगभग 11 बजे धर्मशाला पहुंचने का कार्यक्रम निर्धारित है। कई देशों के राजदूत, देश सहित विदेशों के इन्वेस्टर्स व डेलीगेटस यहां पहुंच चुके हैं।

इस आयोजन के सिलसिले में बुधवार को मुख्यमंत्री  जयराम ठाकुर ने धर्मशाला में नामी कंपनियों के प्रतिनिधियों एवं निवेशकों के साथ प्रदेश में निवेश हेतु सार्थक बैठकें की । मुख्यमंत्री का  कहना है कि उनकी सरकार निवेशकों को हरसंभव सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध है।

ग्लोबल इन्वेस्टर मीट में पीएम मोदी के अलावा केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद एस पटेल, वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह थमांग, बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार भी मौजूद रहेंगे। इसके अलावा प्रॉक्टर एंड गैंबल के प्रबंध निदेशक मधुसूदन गोपालन, हीरा कॉरपोरेट सर्विस के सुनील कांत मुंजाल, अडाणी इंटरप्राइजेज के प्रणव अडाणी समेत कई उद्योगपति भी पहुंच गए हैं। प्रधानमंत्री मोदी भी हिमाचल पहुंच चुके हैं ।

ग्लोबल इन्वेस्टर मीट में चार बड़े सेक्टर समेत सभी क्षेत्रों में करीब 82 हजार करोड़ के निवेश प्रस्ताव पर मुहर लगेगी। अभी तक 583 एमओयू साइन किए गए हैं। इसमें ऊर्जा के 15 एमओयू से 27,812 करोड़, पर्यटन के 192 एमओयू से 14,955 करोड़, उद्योग के 207 एमओयू से 13,682 करोड़ और हाउसिंग के 32 एमओयू से 12,277 करोड़ निवेश होने की संभावना है। हिमाचल सरकार को उम्मीद है कि इस निवेश से प्रदेश के पौने दो लाख लोगों को रोजगार मिलेगा।

Read Also :  राम मंदिर के ट्रस्ट में मोदी और शाह हों शामिल , विश्व हिंदू परिषद ने दिया सुझाव

सुरक्षा के लिहाज से शहर में 2400 पुलिस जवान तैनात किए गए हैं। शहर को 18 सेक्टरों में बांटा गया है। वहीं शहर सहित आसपास के क्षेत्रों में 6 नाके लगाए गए हैं। प्रदेश में पहली बार हो रहे इतने बड़े आयोजन के दौरान ट्रैफिक मैनेज करना भी पुलिस के लिए चुनौती होगा। सुरक्षा के लिए पुलिस जवान चप्पे-चप्पे पर तैनात कर दिए गए हैं।

Read Also :  नोबेल विजेता बनर्जी बोले, मोदी जी सब देख रहे हैं

एसपी कांगड़ा विमुक्त रंजन के अनुसार कि प्रदेश में पहली बार हो रहे इतने बड़े इवेंट में सुरक्षा व्यवस्था अहम होगी। इस इवेंट में पीएम नरेंद्र मोदी, सीएम, विभिन्न देशों के राजदूत, देश व विदेश के इन्वेस्टर्स व डेलीगेटस की सुरक्षा पर भी फोकस होगा। सुरक्षा के लिए 2400 जवान तैनात किए गए हैं। वहीं इतने बड़े आयोजन में ट्रैफिक मैनेज करना चुनौती होगी, लेकिन तैयारी की पूरी गई है।

उम्मीद है हिमाचल सरकार की यह कोशिश रंग लाएगी और हिमाचल का औद्योगिक व आर्थिक विकास नई उंचाइयों पर पहुंचेगा।