नोबेल विजेता बनर्जी बोले, मोदी जी सब देख रहे हैं

Pm Modi in PMO behind Curtains


नई दिल्ली

पिछले दिनों अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी को अर्थशास्त्र के क्षेत्र में उपलब्धियों के लिए नोबेल से नवाजा गया था । तभी से नोबेल विजेता अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी, (Abhijit Banerjee) भारतीय मीडिया में चर्चा का विषय बने हुए हैं। यह चर्चा उनके लिए अच्छी और बुरी दोनों तरह की रही है। लेकिन ऐसी चर्चाओं से अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी बिल्कुल बेपरवाह हैं।


आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे मुलाकात की और भारतीय अर्थव्यवस्था तमाम पहलुओं पर बातचीत के अलावा उनके जिंदगी के बारे में खूब बातें की । इस मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ट्वीट किया। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक तस्वीर भी साझा की। इतना ही नहीं, पीएम मोदी ने बताया कि उनके साथ विस्तार से कई विषयों पर बात हुई। ट्विटर पर पीएम मोदी ने लिखा, ”नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी के साथ शानदार बैठक हुई। मानव सशक्तीकरण के प्रति उनका जुनून साफ दिखाई देता है।हमने विभिन्न विषयों पर एक स्वस्थ और व्यापक बातचीत की. भारत को उनकी उपलब्धियों पर गर्व है। उनके भविष्य के प्रयासों के लिए उन्हें शुभकामनाएं।”

Read Also :  प्रकाश पर्व के अवसर पर गुरु नगरी पहुंचे 84 देशों के राजदूत
https://twitter.com/narendramodi/status/1186531423110348800


बता दें कि पिछले दिनों केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने अभिजीत बनर्जी को लेकर कहा था कि उनका झुकाव पूरी तरह वामपंथ की ओर है। जिसपर बनर्जी ने कहा कि वाणिज्‍य मंत्री ने मेरे ‘प्रोफेशनलिज्‍म पर सवाल’ उठाया है। गोयल ने शुक्रवार को पुणे में संवाददाताओं से कहा था कि मैं अभिजीत बनर्जी को नोबेल पुरस्कार जीतने की बधाई देता हूं। आप सभी जानते हैं कि उनकी सोच पूरी तरह वाम की ओर झुकाव वाली है। भाजपा नेता ने कहा कि बनर्जी ने कांग्रेस द्वारा प्रस्तावित ‘न्याय’ योजना का समर्थन किया और भारत की जनता ने उनकी सोच को नकार दिया।
इससे पहले मीडिया में यह भी चर्चा रही है कि अभिजीत बनर्जी ने कांग्रेस पार्टी की न्‍याय योजना या न्‍यूनतम आय योजना तैयार करने में कांग्रेस की सहायता की थी जिसके तहत सबसे ज्‍यादा गरीब 20 फीसदी परिवारों को साल में 72000 रुपये की सहायता देने का वादा किया था। इस साल हुए लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की घोषणापत्र में ‘न्‍याय योजना’ को प्रमुखता दी गई। हालांकि चुनावों में पार्टी को बुरी तरह हार देखनी पड़ी।
प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात के बाद अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी ने कहा कि बातचीत की शुरुआत मोदी जी ने एक चुटकुले से की । प्रधानमंत्री को बखूबी मालूम है कि भारतीय मीडिया उनके मुंह से प्रधानमंत्री के विरोध में कुछ निकलवाना चाहता है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी से नौकरशाही और अर्थव्यवस्था के मुद्दों पर बातें हुईं। अभिजीत बनर्जी ने कहा कि हम कई राज्‍य सरकारों के साथ काम करते हैं, उनमें से कई बीजेपी की सरकारें हैं। हमने गुजरात प्रदूषण बोर्ड के साथ भी काम किया जब नरेंद्र मोदी वहां के मुख्‍यमंत्री थे और वास्‍वत में वह बेहतरीन अनुभव था। बनर्जी ने यह भी कहा कि मैं कहूंगा कि वो सबूतों के साथ जुड़ने को इच्‍छुक थे और उन्‍होंने अनुभव के आधार पर नीतियों को लागू करने पर जोर दिया।